हिन्दी दिवस पर निबंध | Hindi Diwas par Nibandh

Hindi diwas par nibandh | nibandh hindi mein | hindi language hindi diwas par nibandh | hindi diwas par nibandh hindi me | hindi diwas par nibandh hindi mein | hindi diwas par nibandh in hindi | hindi diwas par nibandh 150 words |

प्रस्तावना

भारत मे हर साल 14 सितम्बर के दिन हिन्दी दिवस के रूप मे मनाया जाता है । हिन्दी भारत की राष्ट्रभाषा है और ईसी दिन भारत मे हिन्दी भाषा को अधिकारीक रूप से भारत का राष्ट्रभाषा बनाया गया था। इस वजह से 14 सितम्बर के दिन समस्त भारत वर्ष मे हिन्दी हिन्दी विशय को लेकर सभी लोगो के प्रति हिन्दि भाषा का प्रचार के लिये भिन्न भिन्न प्रकार के कार्यक्रम चलाया जा रहा है ताकी समस्त भारत के लोग अपने भाषा को अपनाये तथा उसका सम्मान करे।

Hindi Diwas par Nibandh
Hindi diwas par nibandh

हिन्दी दिवस क्यु मनाया जाता है

भारत 200 वर्षों तक अंग्रेजों का गुलाम रहा था। यही कारण से गुलामी का असर सम्पूर्ण भारत पर लम्बे समय से दिखा और साथ मे भाषा मे भी।हिन्दी विश्व मे सब्से ज्यादा बोलि जाने वाली भाषा मे 4 स्थान पर आति है। इसके बाद भी हमारी हिन्दी भाषा को हमारे हि देश के लोग बोलने से शर्माते है और इस भाषा को हिन समझते है।

अंग्रेजी मे बात करने वालो को पढ़ा लिखा समझते है और हिन्दी बोलने वाले को अनपढ़ समझा जाता है अंग्रेजी बोलने वालो को अधुनीक व्यक्ति तथा हिन्दी बोलने वाले को पुराने जामाने के समझते है। और यही भारत की विडम्बना है जो अंग्रेजी भाषा को अपने हि देश् के लोग प्राथमिकता देते है और् अपने राष्ट्र भाषा को दुच्च्छ् समझते है । और इसी मानसिकता को हटाने के लिये हिन्दी दिवस मनाने का प्रवधान शूरूवात किया गया।

ये भी पढ़े :- वर्षा ऋतु पर निबंध | Varsha Ritu par Nibandh |

हिन्दी दिवस का इतिहास

हिन्दी दिवस का इतिहास और इसे दिवस के रूप मे मनाये जाने का कारण बहुत हि प्रचीन है। वर्ष 1918 मे राष्ट्र पिता महत्मा गान्धी ने इसे जनमानस का भाषा कहा था, और हिन्दी भाषा को राष्ट्र भाषा बनाने की बात कहा था। स्वतंत्रता प्राप्ति के दो वर्ष पूर्ण दिनांक 14 सितम्बर 1949 को हिन्दी के पुरोधा राजेन्द्र सिन्हा के 50 वां जन्म दिन को जिसने हिन्दी को राष्ट्र भाषा बनाने के हिये बहुत हि संघर्ष किया था।

भारतीय संविधान के भाग 17 के अध्याय के धारा 343 (1) के अनुशार हिन्दी को राष्ट्रीय भाषा बनाने के रूप कुछ इस प्रकार से लिखा गया है “(संघ की राज भाषा हिन्दी और लिपी देवनागरी होगी ,संघ के राजकीय प्रयोजनाओ के लिये प्रयोग होने वाली अंकों का रूप अंतरराष्ट्रीय रूप होगा।

ये भी पढ़े :- महात्मा गांधी (राष्ट्रपिता) जी पर निबंध हिन्दी में।

हिन्दी भाषा का महत्व

हिन्दी भाषा एक ऐसी भाषा है जो भारत हि नहि अपितु समपुर्न विश्व मे बोले जाने वाली सभी भाषाओ मे से एक है। और यहा भाषा अनेको देशो मे बोले जाते है ।और यह एक विश्व प्रशिध् भाषा है।और हिन्दी सभी भाषाओं से सरल सुगम सजग भाषा है जिसे आशानी से पढ़ा, लिखा, बोला ,और समझा जा सकता है।

हिन्दी भाषा में 11 स्वर और 35 व्यंजन होता है और इसे “देवनागरी” लिपि में लिखा जाता है , हिन्दी एक ऐसे भाषा है जिसको असानी से बच्चे बुढे जवान सब आसानी से शीख बोल सकते है ।और सभि भारतियो को अपनी यह मात्री भाषा आना चाहिये ।

उपसन्हार

एक ओर जहाँ अंग्रेजी एक विश्वव्यापी भाषा है और इसका विशाल महत्व को नजर अन्दाज नहि किया जा सकता है ।साथ हि में हमे यह याद रखना चाहिये कि हम एक भारतीय और हमारी राष्ट्र भाषा हिन्दी है जिसको हमे सबसे पहले प्राथमिकता देनि चाहिये और् इसका सदैव सम्मान करना चाहिये । “जन को जो मिलती है, वो भाषा हिन्दी कहलाती है।

ये भी पढ़े :- विज्ञान के चमत्कार पर निबंध |

Hindi Diwas par Nibandh FAQ

Q 1. हिंदी दिवस कब मनाया जाता है ?

Answer – भारत मे हर साल 14 सितम्बर के दिन हिन्दी दिवस के रूप मे मनाया जाता है ।

ये भी पढ़े :- Holi per Nibandh | होली का निबंध |

Leave a Reply

Your email address will not be published.