गाय पर निबंध | Gay Per Nibandh | गाय पर निबंध 10 लाइन hindi में class 2 to 10

gay ka nibandh | Gay Per Nibandh| gay per nibandh hindi mein | gay per nibandh likhen | hindi mein gay per nibandh | gay par nibandh 10 line | गाय पर निबंध 10 लाइन hindi में class 2 | गाय पर निबंध 10 लाइन hindi में class 5 |

प्रस्तावना

हिन्दू सभ्यता के अनुसार गाय को हम माता मानते हैं, गाय हमारे भारत की नहीं अपितु यह पुरे विश्व की माता है,अर्थात गाय हमारी माता हैं। गाय को अंग्रेजी शब्द में cow कहते हैं।

गाय को तो पुरी दुनिया में काफी महत्व हैं परन्तु गाय को हमारे भारत में बहुत महत्व हैं, खेती कार्य के लिए बैलों को महत्व देते हैं, परन्तु गाय को हम हमारे जीवन में काफी महत्व हैं। गाय एक पालतू पशु हैं। गाय हमें बहुत कुछ देती हैं, जिससे और कई लोगों का जीवन यापन गाय से मिले दुध, दही, मक्खन, घी, पनीर आदि से प्राप्त से चलता हैं।

गाय की शारीरिक संरचना ( Gay Per Nibandh )

गाय का एक मुंह, दो आंख, दो कान, दो कान, दो सिंग, दो नथुने, चार पैर, एक पूंछ होती हैं जो उसके शरीर पर भिनभिनाते मक्खियों को भगाने का काम करती हैं। गाय सिधी साधी होती हैं। गाय दुधारू पशु होने के कारण यह बहुत ही उपयोगी होती हैं। गाय की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि वह मानव जाति को हमेशा कुछ न कुछ देती हैं परन्तु बदले में कुछ नहीं मांगती हैं।

ये भी पढ़े :- महात्मा गांधी (राष्ट्रपिता) जी पर निबंध हिन्दी में।

gay per nibandh
gay per nibandh

गाय के प्रकार ( Gay Per Nibandh )

गाय कई प्रकार की होती हैं, गाय के रंगों के आधार पर गाय क‌ई प्रकार है जैसे काली, सफेद, लाल, चितकबरी मिश्रित रंगों की होती हैं। जंगली गाय का भी प्रकार होते हैं भारत में मुख्य रूप से साहिवाल बिहार, हरियाणा, पंजाब, और उत्तरप्रदेश में पाया जाता हैं, गीर गाय गुजरात में, लाल सिंधी गाय कर्नाटक में, मेवाती हरियाणा में आदि प्रकार की गाय पाई जाती हैं।

विदेशी नस्ल में सर्वाधिक जर्सी गाय अधिक लोकप्रिय हैं, क्योंकि यह अधिक दुध देती हैं और बड़ी भी होती हैं जबकि भारतीय गाय विदेशी गाय से छोटी होती हैं और कम दुध देती हैं। इस कारण से आजकल भारत के लोग भी विदेशी गाय रखना पसंद करते हैं|

ये भी पढ़े :- विज्ञान के चमत्कार पर निबंध |

गाय हमें मिलने वाले फायदे ( Gay Per Nibandh )

गाय हमें दुध देती हैं, तथा बछड़ा भी देती हैं, जिससे हम अपने खेतों में हल चला कर धान उत्पादन करते हैं, गाय के गोबर, मुत्र बहुत उपयोगी होती हैं गाय के गोबर से आंगन की लिपाई करते हैं जिससे आंगन स्वच्छ रहता है, गाय के गोबर को सड़ा कर खेतों में सिंचाई की जाती हैं जिससे जमीन की उर्वरा शक्ति बनी रहती हैं इसके खा‌द को पेड़ो, पौधों, फसलों के लिए फायदेमंद होता हैं।

गाय के दुध हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता हैं, तथा गाय के दुध से घी, मक्खन, दही, पनीर, तथा अनेक प्रकार की मिठाई बनाया जाता हैं। गाय के दुध से हमें पौष्टिक, विटामिन मिलता हैं।

ये भी पढ़े :- प्रदूषण पर निबंध |

Gay Per Nibandh
Gay Per Nibandh

गाय का स्वाभाव ( Gay Per Nibandh )

गाय का स्वाभाव शांत व सरल होता हैं, इसलिए गाय सबसे प्रिय पशु हैं । गाय शाकाहारी पशु हैं वह केवल घास, भुसा, पेड़ो की पत्तिया आदि खाती हैं। गाय केवल एक समय में एक बछड़ा या बछड़ी देती हैं। गाय की आंखें बहुत ही सुन्दर होती हैं।

ये भी पढ़े :- Holi per Nibandh | होली का निबंध |

गाय का धार्मिक महत्व ( Gay ka Nibandh )

हमारे भारत में गाय को देवी का दर्ज़ा दिया गया है। प्राचीन काल से लोगों का मानना है कि गाय मे 33 करोड़ देवी देवताओं का वास है, इसलिए भारतीय दिपावली पर्व के दुसरे दिन हम गोवर्धन पूजा के दिन हम गाय की पूजा करते हैं। और साथ ही प्राचीन काल से ही गाय को समृद्धि का प्रतीक माना है, और गाय को हमेशा से ही शुभ माना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.