Pradushan Par Nibandh

Pradushan Par Nibandh | प्रदूषण पर निबंध | Top Paryavaran Pradushan Per Nibandh 500 शब्द

Pradushan Par Nibandh | प्रदूषण पर निबंध | Paryavaran Pradushan Per Nibandh | vayu pradushan par nibandh | pradushan par nibandh hindi mein | jal pradushan par nibandh | pradushan par nibandh in hindi | dhwani pradushan par nibandh | mrida pradushan par nibandh | dhvani pradushan par nibandh | Pradushan Par Nibandh pdf |

प्रस्तावना

आज प्रदूषण की समस्या हमारे देश मे हि नही बल्कि पूरे विश्व मे बहुत हि बड़ी ब्यापक समस्या के रूप ले चुकी है। हमारे पर्यावरण आज बहुत हि बुरी तरीके से बिगड़ चुकि है और प्रदुषण के करण हमारा आम जीवन हि नहि वरन सम्स्त् जीव जंतु जिवधारि बहुत हि प्रभावित हुआ है। इस भयावह संकट से निपटने के लिए सभी ओर पुरा चौतरफा आवाज उठायी जा रही है, लेकिन इसका संपूर्ण निवांरण करने मे हम अभी भी असफल साबित हुए है।

प्रदुषण का अर्थ—>

जब हमारे पर्यावरण को ऐसे गैर जरूरी या (आवान्छित ) तत्व मिलकर बिगाड़ने लगती है तब प्रदूषण की समस्या उत्पन्न होती है इसी को हम प्रदुषण कहते है। यदि हमारा प्राकृतिक संतुलन बिगड़ती है तो समझो प्रदुषण की समस्या उतपन्न हो हो गया है।

ये भी पढ़े :- महात्मा गांधी (राष्ट्रपिता) जी पर निबंध हिन्दी में।

प्रदुषण के प्रकार

मुख्य रूप से प्रदूषण के चार प्रकार है-

  1. जल प्रदुषण
  2. वायु प्रदूषण
  3. मृदा प्रदुषण
  4. ध्वनी प्रदूषण

जल प्रदुषण

जब शुद्ध जल मे अनवश्क या (आवंछित) पदार्थ मिल जाता है जिससे शुद्ध जल दूषित हो जाता है इसी क्रिया को हम जल प्रदूषण कहते है ।

जल प्रदूषण के कारण

जल प्रदूषण का मुख्य कारण कारखानो से निकलने वाली दूषित जल खेतो मे छिड़कने वाली रासायनिक पदार्थ कितनाशक घरों से निकलने वाली मानव माल मूत्र जल वाहक पोतो द्वारा तेल लेजाने लाने के समय तेलो का रिसाव जिसमे तेल का गिर जाना जिससे जलीय जीव प्रभावित हिते है । ये सभी दूषित जल नदी नालो से सुध जल मे प्रवेश करती है जिससे शुद्ध जल मे मिलने से ये जल प्रदूषित हो जाता है ।

वायु प्रदूषण

हवा मे जब गैस एवं धूल के बारिक कण मिलकर इसे बिगाड़ने लगते है तो वायु प्रदुषण की समस्या उत्पन्न होती है इसे हि हम वायु प्रदुषण कहते है।

वायु प्रदुषण के कारण

वायु प्रदुषण के मुख्य करण फैक्ट्रीयो के बड़े – बड़े चिमनियों से निकलने वाली धुवा घरों से निकलने वाली धुवा राशायनिक खादों के छिड़काव से निकलने वाली जहरीली गैसे मोटर् वाहनों से निकलने मानव कॉर्बन डाइऑक्साइड गैसे जो वायु मे मिलकर वायु को प्रदूषित करता है |

मृदा प्रदूषण

जब हमारे मिट्टी मे ऐसे गैर जरूरी या (आवांछित) तत्त्व मिलकर ऐसे हानि पहुचाये या इसे खराब करे तो इस प्रक्रिया को मृदा या मिट्टी प्रदूषण कहते है।या इसे सरल भाषा मे कहे तो मिट्टी मे गौर रासायनिक पदार्थ मिलकर इसकी उपजाऊपन या इसकी उच्चगुड़वत्ता को हानि होती है इसे हि मृदा प्रदूषण कहते है।

मृदा प्रदूषण के कारण

मृदा (धरती) या मिट्टी मे संपूर्ण जीव जंतु मानव व्यचर करता है और इंसान अपनी जरूरतों की पूर्ति क लिए इसमे खाद्या समग्री उत्पन्न करते है । और अधिक उत्पादन बढ़ाने के लिए इसमे राशयनिक खाद कितनाशक खरपतवार का उपयोग करते है जिससे मिट्टी प्रदूषित होता है । मानव द्वारा उपयोग मे लिए जाने वाले प्लास्टिक पदार्थ जो हजारों सालो जब नष्ट नहीं होता यही मिट्टी की उपजाऊ पन को नस्ट कर देती है।

ध्वनि प्रदुषण

कम डेसिबल की ध्वनि तो हमे कर्न प्रिय एवं मधुर लगती है लेकिन 80-100 से अधिक डेसिबल की ध्वनि हमे करकस एवं हमे नुकसान पहुंचाने वाली होती है तब ध्वनि प्रदूषण की उतपन्न होती है । आसान भाषा मे केहे जाये तो वह आवाज जो सुनने लायक हो या वो ध्वनि जिसको आपको सुनने मे कोई दिक्क़त ना हो तो ठीक है लेकिन वही ध्वनि आपको सुनने मे आपके कानो मे असहनीय हो यही ध्वनि प्रदूषण है ।

ध्वनि प्रदूषण के कारण

ध्वनि प्रदूषण का मुख्य कारण मानव द्वारा बनायि गयी बड़ी बड़ी मशीने लाउड स्पीकर वाहनों का हॉर्न ट्रेनों का हॉर्न बड़ी फैक्ट्री से मिशीनों को आवाजे। युद्ध के लिए बनाये गये बम बंदूके पटाखे ये सब ध्वनि प्रदूषण के मुख्य करण है।

Pradushan Par Nibandh
Pradushan Par Nibandh

प्रदूषण को दूर करने का उपाय

प्रदूषण की समस्या को समझने क लिए हर एक व्यक्ति को अपनी जिम्मेदारि लेनी चाहिए ।हमारे पर्यावरण को सुरक्षित बनाये रखने क लिए और हमारे आने वाले नए युग को सुरक्षा देने क लिए हमे प्रदुषण को हटाने क अधिक से अधिक प्रयास करना हमारे।

आज भी यदि हम प्रदुषण की समस्या के प्रति सचेत ना हुए तो कल के आने वाले पीढ़ी के लिए यह एक भयावह खतरा बन जायेगा । अतः इस समस्या का समाधान के लिए। अधिक से अधिक वृक्षारोपन् करना चाहिए हर एक व्यक्ति को अपना कर्तव्य समझकर प्रकृति की संतुलन को बनाये रखने क लिए अपने आने वाली पीढ़ि के लिए अपने आप को पर्यावरन् के प्रति अपना कर्तव्य निभाए। और सरकार हम प्रदुषण कए खिलाफ सख्त से सख्त कानून अपनाये ।

Pradushan Par Nibandh ( प्रदूषण पर निबंध ) PDF

Pradushan Par Nibandh ( प्रदूषण पर निबंध ) पीडीऍफ़ डाउनलोड करने के लिए यहाँ दिए गए लिंक पर क्लीक करे –

Leave a Reply

Your email address will not be published.