Corona par Nibandh in hindi

कोरोना वायरस (COVID-19) पर निबंध | Corona par Nibandh in hindi

Corona par Nibandh in hindi विवरण :-

  • प्रस्तावना
  • कोरोना वायरस क्या है
  • कोरोना वायरस की उत्पत्ति
  • पुरे विश्व में कोरोना वायरस का प्रकोप
  • कोरोना वायरस का भारत आगमन
  • कोरोना काल में मजदूरों की स्थिति
  • कोरोना वायरस के लक्षण
  • कोरोना से बचाव के उपाय
  • वर्तमान समय में कोरोना वायरस
  • उपसंहार

कोरोना वायरस पर निबंध

(1)प्रस्तावना:-

corona par nibandh in hindi – कोरोनावायरस (COVID-19) को इस दुनिया का कौन व्यक्ति नहीं जानता है। कोरोनावायरस COVID19 को WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) द्वारा वैश्विक महामारी घोषित कर दिया गया है। कोरोनावायरस का खतरनाक वेरियंट 2019 में सबसे पहले चीन के वुहान शहर में मिला। इससे पहले कोरोना के जितने वेरियंट मौजूद थे यह उन सबमे सबसे ज्यादा खतरनाक है। WHO ने इसका नाम COVID19 रखा है।

(2)कोरोना वायरस क्या है:-

corona par nibandh in hindi – कोरोनावायरस बीमारी (कोविड-19) एक संक्रामक बीमारी है जो SARS-CoV-2 वायरस की वजह से फैलती है। कोरोनावायरस सामान्य सर्दी से कोविड-19 तक श्वसन संक्रमण का कारण बनते हैं। हाल ही के वर्षों में अन्य कोरोनावायरस ने भी प्रकोप पैदा किया है, जैसे कि गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम और मध्य पूर्व श्वसन सिंड्रोम। लेकिन इन वायरस ने उतने लोगों को प्रभावित नहीं किया है, जितना कोविड-19 ने किया है।

(3)कोरोना वायरस का आगमन:-

कोरोना वायरस की शुरुवात वर्ष 2019 दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। जो की देखते देखते पुरे विश्व में फैलता चला गया।अंत: काल वर्तमान में कोरोना वायरस अथवा कोविड-19 एक महामारी का रूप ले लिया है जिसका कोई इलाज नहीं मिल पाया है। कई वैज्ञानिक इस महामारी वायरस की औषधि की खोज कर रहे है लेकिन अभी तक किसी वैज्ञानिक को सफलता नहीं मिली है।

ये भी पढ़े :- वर्षा ऋतु पर निबंध | Varsha Ritu par Nibandh |

(4)पुरे विश्व में कोरोना वायरस का प्रकोप:-

corona par nibandh in hindi- नोवेल कोरोना वायरस संक्रमण के कुछ इक्के-दुक्के मामले सबसे पहले चीन में सामने आए और उसके कुछ माह बाद ही देखते-देखते इसने वैश्विक महामारी का रूप धारण कर लिया। इस महामारी के कारण वैश्वीकृत दुनिया की एक दूसरे के साथ मजबूती से जुड़ी हुई प्रणालियां पूरी तरह से बदल गई है।

Corona par nibandh in hindi इस वायरस के प्रकोप पर काबू करने के प्रयास के तौर पर अलग-अलग देशों की सरकारों ने आने-जाने तथा सामाजिक मेल-जोल पर बंदिशें लगा दी जिसके कारण दुनिया की 7.8 बिलियन की आबादी में से एक तिहाई से अधिक आबादी इस समय इस महामारी के कारण एक तरह से अपने घरों में बंद रहने को मजबूर है|

कोरोना वायरस की महामारी के कारण वैश्विक स्वास्थ्य संकट गहराता जा रहा है और अनेक लोगों के लिए लॉकडाउन नया ‘नियम’ बन गया है और अब यह धारणा तेजी से बन रही है कि आने वाले समय में जब तक कोरोना वायरस खत्म होगा तब तक दुनिया की सूरत हमेशा-हमेशा के लिए बदल जाएगी।

corona par nibandh in hindi आज इस बात को लेकर आम सहमति है कि अगले डेढ़ से दो साल तक पूरी दुनिया किसी न किसी रूप से संभवतः कोविड-19 के तात्कालिक खतरे से ही जूझती रहेगी और उसके बाद भी पुनर्निर्माण और इसके स्थाई प्रभाव निःसंदेह कई वर्षों तक महसूस किए जाते रहेंगे। दुनिया के कई हिस्सों में, सीमाएं बंद हैं, हवाई अड्डे, होटल और व्यवसाय बंद हैं, और शैक्षणिक संस्थान बंद हैं।

ये अभूतपूर्व उपाय कुछ समाजों के सामाजिक ताने-बाने को तोड़ रहे हैं और कई अर्थव्यवस्थाओं को बाधित कर रहे हैं, जिसके परिणामस्वरूप बड़े पैमाने पर लोगों की नौकरियां छूट रही है और व्यापक पैमाने पर भूख की छाया बढ़ रही है।

(5)कोरोना वायरस का भारत आगमन :-

भारत में सबसे पहले कोरोना वायरस से संक्रमण का मामला 30 जनवरी 2020 को दक्षिण भारत के केरल में सामने आया था। वायरस से संक्रमण का पहला शिकार 20 साल की युवती थी। दरअसल, वह युवती 25 जनवरी 2020 को चीन के वुहान शहर से लौटी थी। आपको बता दें कि वुहान ही वह शहर है जहां से इस खतरनाक वायरस की शुरूआत मानी जाती है |

corona par nibandh in hindi जानकारी के मुताबिक वह युवती तीन साल से वुहान में चिकित्सा की पढ़ाई कर रही थी। आपको बता दें कि वुहान में 31 दिसंबर 2019 को कोरोना वायरस से संक्रमण का पहला मामला सामने आया था। उस युवती ने बताया था कि वुहान से भारत आने पर पहले कोलकाता एयरपोर्ट और फिर कोच्चि एयरपोर्ट पर उसकी थर्मल स्क्रीनिंग हुई थी और उस समय वह पूरी तरह से स्वस्थ थी| हालांकि अगले ही दिन बीजिंग स्थित भारतीय दूतावास से उन्हें एक एडवाजरी प्राप्त हुई थी जिसमें उन्हें अपना मेडिकल टेस्ट कराने की सलाह दी गई थी |

Corona par nibandh in hindi उसके बाद उन्होंने सरकारी अस्पताल में टेस्ट भी कराया था। हालांकि दो दिन बाद 27 जनवरी को उनके गले में परेशानी शुरू हो गई. वह दोबारा अस्पताल पहुंची और इस बार उन्हें एडमिट कर लिया गया। इसके अलावा उनका कोरोना टेस्ट भी हुआ और वह पॉजिटिव आ गया। भारत सरकार ने भी उस समय इस बात की पुष्टि की थी कि चीन के वुहान विश्वविद्यालय से आए एक छात्र में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं।

Corona par Nibandh in hindi
Corona par Nibandh in hindi

(6)कोरोना काल में मजदूरों की स्थिति :-

Corona par nibandh in hindi – साल 2020 की जब बात होगी, कोरोना महामारी का जिक्र ज़रूर आएगा।कोरोना का जिक्र आते ही आँखों के सामने तस्वीरें आती हैं इलाज के लिए तरसते लोगों की, एम्बुलेंस की, शमशान घाट की, ऑक्सीजन सिलेंडर की और एक शहर से दूसरे शहर पैदल निकले मजदूरों की। मजदूरों ने बीमारी के साथ साथ भुखमरी की दोहरी मार झेली थी।साल 2020 में आत्महत्या सबसे ज़्यादा दिहाड़ी मजदूरों ने की है|

कुछ राज्य सरकारों ने दूसरे राज्यों में काम कर रहे अपने लोगों के लिए ट्रेनों और बस का इंतजाम भी किया था। केंद्र सरकार ने ग़रीबों में मुफ़्त राशन बटवाने का एलान भी किया था। लेकिन मजदूरों के दुख, परेशानी और भुखमरी के आगे वो कोशिशें नाकाफ़ी थीं।
कोरोना महामारी ने मजदूरों को झझकोर रख दिया है।

Corona par nibandh in hindi – सबसे ज्यादा दुखों का पहाड़ प्रवासी मजदूरों पर टूटा है, मजदूरों के पास अब रोजी-रोटी का संकट है। जिले में विभिन्न स्थानों पर खड़े होने वाले मजदूर सुबह रोजी रोटी की तलाश में आते हैं, मगर काम न मिलने के कारण वह मायूस होकर लौट जाते हैं। जिले में दूसरे राज्यों और जिलों से करीब पांच हजार प्रवासी मजदूर भी आए हैं, वह भी रोजी-रोटी कमाने की तलाश में इधर-उधर भटक रहे हैं।

ये भी पढ़े :- महात्मा गांधी (राष्ट्रपिता) जी पर निबंध हिन्दी में।

(7) कोरोना वायरस के लक्षण :-

• बुखार

• थकान

• सुखी खासी

• नाक का बंध होना

• बेहति नाक

• गले कि खराश

• सांस लेने मे कठिनाई

(8)कोरोना से बचाव के उपाय:-

• दूसरों से सुरक्षित दूरी (कम से कम 1 मीटर) बनाए
रखें, भले ही वे बीमार न हों।

• सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाएं, खास तौर पर
इमारत के भीतर या जब शारीरिक दूरी बनाना संभव
न हो।

• बंद जगहों की बजाय खुली, हवादार जगहें चुनें.
अगर किसी इमारत के भीतर हैं, तो खिड़कियां
खोलें।

• हाथों को बार-बार धोएं. हाथ धोने के लिए, साबुन
और पानी या एल्कोहल वाला हैंड रब इस्तेमाल
करें।

• अपनी बारी आने पर टीका लगवाएं. टीकाकरण के
बारे में स्थानीय निर्देश फ़ॉलो करें।

• खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को
कोहनी या रूमाल से ढंक लें।

• अगर आप अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं, तो घर पर ही
रहें।

ये भी पढ़े :- Holi per Nibandh | होली का निबंध |

(9)वर्तमान समय में कोरोना वायरस:-

Corona par nibandh in hindi – भारत में नए COVID-19 केसों में 25% उछाल आया है। कोविड-19 वायरस, अलग-अलग लोगों को अलग-अलग तरह से प्रभावित करता है। संक्रमित हुए ज़्यादातर लोगों को थोड़े से लेकर मध्यम लक्षण तक की बीमारी होती है और वे अस्पताल में भर्ती हुए बिना ठीक हो जाते हैं। वर्तमान समय में कोरोना वायरस फिर से बढ़ने लगा है। हर रोज 15000 से ज्यादा केश सामने आ रहे हैं। अगर हम आज ध्यान नहीं देंगे तो यह बिमारी और आक्रामक रुप ले लेगा।

उपसंहार:-

Corona par nibandh in hindi – कोरोनावायरस से बचने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। शोधकर्ता वैज्ञानिक इस वायरस से छुटकारा पाने के लिए दवा बनाने में जुटे हुए हैं। सरकार द्वारा लगातार इस खतरनाक बीमारी से बचने के लिए कठोर कदम उठाए जा रहे हैं ताकि इस महामारी से निजात पा सकें। वर्तमान में भारत, रूस समेत अन्‍य देशों ने वैक्‍सीन जारी की है। भारत द्वारा 2 वैक्‍सीन का निर्माण किया गया है।

कोविशील्‍ड वैक्‍सीन, इस वैक्‍सीन का उत्‍पादन भारत में सीरम इंस्‍टीट्यूट द्वारा किया जा रहा है। कोवैक्‍सीन, इस वैक्‍सीन का उत्‍पादन भारत बायोटेक द्वारा किया जा रहा। हम सबकी जिम्मेदारी बनती है कि हम नियमों का कड़ाई से पालन करें ताकि हम देश को रोगमुक्त कर सकें।

ये भी पढ़े :- विज्ञान के चमत्कार पर निबंध |

corona par nibandh in hindi | corona par nibandh | coronavirus par nibandh in hindi | corona mahamari par nibandh | coronavirus nibandh | corona nibandh in hindi | corona par nibandh in hindi 100 words | corona par nibandh hindi | corona mahamari par nibandh in hindi | coronavirus nibandh in hindi |

Leave a Reply

Your email address will not be published.